भारत बॉन्ड ETF

Banner

4 दिसंबर को सरकार ने देश के पहले कॉर्पोरेट बॉन्ड ETF- भारत बॉन्ड ETF के लॉन्च को मंजूरी दे दी है। इस ETF के तहत सार्वजनिक क्षेत्र यानि सरकारी संगठनों के लिए अतिरिक्त धन उपलब्ध कराया जाएगा। एडलवाइस एएमसी को ईटीएफ लॉन्च करने का आदेश मिला है।

भारत बॉन्ड ईटीएफ निवेशकों के लिए 12-20 दिसंबर तक खुला रहेगा जिस दौरान निवेशक इस फंड  में निवेश कर पाएंगे |  ईटीएफ की सम्पूर्ण राशि 7,000 करोड़ रुपये की होगी  जिसे ग्रीनशु विकल्प के तहत  8,000 करोड़ रुपये तक बढ़ायी जा सकती है।

इस लेख में आपको इस ETF और इसके लाभों  के बारे में अच्छे से जानने में मदद मिलेगी।

 

ईटीएफ ETF क्या है?

ईटीएफ या एक्सचेंज-ट्रेडेड फंड प्रतिभूतियों की एक टोकरी में निवेश करता है, जो ज्यादातर एक निश्चित इंडेक्स को ट्रैक करता है। ईटीएफ, म्यूचुअल फंड के समान होता हैं, लेकिन इसमें बड़ा अंतर यह है, कि इसे स्टॉक एक्सचेंजों के माध्यम से खरीदा और बेचा जाता है। जैसे आप स्टॉक खरीदेंगे, आप एक्सचेंज से ट्रेडिंग के घंटों के दौरान ईटीएफ खरीद वह बेच सकते हैं।

 

बॉन्ड ईटीएफ क्या है?

एक बांड ईटीएफ अंतर्निहित सूचकांक में बांड की एक टोकरी में निवेश करता है। यह सरकार, कॉर्पोरेट या सार्वजनिक क्षेत्र की इकाई बांड में निवेश कर सकता है।

 

भारत बांड ईटीएफ के बारे में मुख्य विवरण इस प्रकार हैं 

 

 

भारत बॉन्ड ईटीएफ की मूल संरचना

  • भारत बांड ईटीएफ एक एक्सचेंज-ट्रेडेड फंड है, जो आपके निवेश किये गये पैसों को सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनियों द्वारा जारी AAA रेटेड बॉन्ड में निवेश करेगा।
  • प्रत्येक ईटीएफ में एक निश्चित परिपक्वता तिथि होगी और विशिष्ट परिपक्वता वर्षों को ट्रैक करने वाले विभिन्न इंडेक्स  होंगे। अभी के लिए , इसकी 2 परिपक्वता श्रृंखलाएं होंगी - 3 वर्ष और 10 वर्ष की मच्योरिटी। एक होगी निफ़्टी भारत बॉन्ड इंडेक्स - अप्रैल 2023 और दूसरी निफ्टी भारत बॉन्ड इंडेक्स - अप्रैल 2030।

 

निवेश रणनीति

  • ईटीएफ सार्वजानिक क्षेत्र की कंपनियों द्वारा जारी AAA रेटेड बॉन्ड में निवेश करेगा। इन बांड्स की मच्योरिटी ETF मच्योरिटी के समय या उससे पहले होगी। ईटीएफ तब तक बॉन्ड रखेगा जब तक कि उसकी परिपक्वता पूरी ना हो जाए |
  • प्राप्त किए गए कूपन वापस ईटीएफ में निवेश कर दिए जाएंगे।
  • रिबैलेंसिंग के समय किसी भी PSU के बांड का पूरे ETF में प्रभाव 15 प्रतिशत से ज्यादा नहीं होगा।
  • कोई भी जारीकर्ता जो सीपीएसई, सीपीएफआई या वैधानिक निकाय बनना बंद कर देता है या रेटिंग एएए से नीचे आ जाती है, अगली रिबैलेंसिंग तिथि पर इंडेक्स से हटा दिया जाएगा।

 

निफ़्टी भारत बॉन्ड इंडेक्स फंड में कौनसे संगठन के बॉन्ड होंगे?

 

निफ़्टी भारत बॉन्ड २०२३

जारीकर्ता

प्रभाव

आरईसी लिमिटेड

(REC Limited)

15.00%

नाबार्ड

(NABARD)

15.00%

पावर फाइनेंस कारपोरेशन

(Power Finance Corporation)

15.00%

हाउसिंग एंड अर्बन डेवलपमेंट कारपोरेशन

(HUDCO)

11.84%

एक्सिम बैंक ऑफ़ इंडिया

(EXIM)

8.00%

पावर ग्रिड कारपोरेशन ऑफ़ इंडिया

(Power Grid Corporation of India)

7.24%

स्माल इंडस्ट्रीज डेवलपमेंट बैंक ऑफ़ इंडिया

(SIDBI)

7.00%

एनटीपीसी लिमिटेड

(NTPC Limited)

6.67%

हिंदुस्तान पेट्रोलियम कारपोरेशन लिमिटेड

(HPCL)

4.87%

नेशनल हाइवेज अथॉरिटी ऑफ़ इंडिया लिमिटेड

(NHAI)

3.85%

नुक्लेअर पावर कारपोरेशन ऑफ़ इंडिया

(Nuclear Power Corporation)

2.43%

इंडिया रेलवे फाइनेंस कारपोरेशन

(India Railway Finance Corporation)

1.88%

एनएचपीसी लिमिटेड

(NHPC)

1.21%
कुल100%

 

निफ़्टी भारत बॉन्ड २०३०

 

 

जारीकर्ता

प्रभाव

नेशनल हाइवेज अथॉरिटी ऑफ़ इंडिया

(NHAI)

15.00%

इंडियन रेलवे फाइनेंस कारपोरेशन लिमिटेड

(Indian Railway Finance Corporation 

Limited)

15.00%

पावर ग्रिड कारपोरेशन ऑफ़ इंडिया लिमिटेड

(Power Grid Corporation)

15.00%

आरईसी लिमिटेड

(REC Limited)

12.72%

एनटीपीसी लिमिटेड

(NTPC)

11.63%

इंडियन आयल कारपोरेशन लिमिटेड

(IOL)

8.00%

नुक्लेअर पावर कारपोरेशन ऑफ़ इंडिया लिमिटेड

(Nuclear Power Corporation)

6.61%

पावर फाइनेंस कारपोरेशन लिमिटेड

(Power Finance Corporation)  

6.51%

एनएलसी इंडिया लिमिटेड

(NLC India)

3.93%

एक्सपोर्ट इम्पोर्ट बैंक ऑफ़ इंडिया

(Exim Bank)

2.84%

नाबार्ड

(NABARD)

1.48%

एनएचपीसी लिमिटेड

(NHPC)

1.27%
कुल100.00%

 

निफ्टी भारत बॉन्ड इंडेक्स में रिटर्न कितना है?

  • अप्रैल 2030 श्रंखला पर मैच्योरिटी यील्ड 7.66% का है
  • अप्रैल 2023 श्रंखला पर मैच्योरिटी यील्ड 6.69% का है

 

भारत बॉन्ड ईटीएफ खरीदने पर कितनी लागत है?

बॉन्ड ईटीएफ सक्रिय(actively) रूप से प्रबंधित डेब्ट फंड की तुलना में सस्ता होता है। भारत बॉन्ड ईटीएफ 0.0005% चार्ज करेगा। \"यह भारत का सबसे सस्ता म्यूचुअल फंड उत्पाद है और दुनिया के सबसे सस्ते डेब्ट फंड उत्पादों में से एक है,\" यह एडलवाइस म्यूचुअल फंड का दावा है।

 

कार्यकाल क्या है?

भारत बॉन्ड ईटीएफ में दो परिभाषित परिपक्वताएं हैं: 3 और 10 साल। ऐसे बॉन्ड ईटीएफ को लक्ष्य परिपक्वता बॉन्ड ईटीएफ कहा जाता है। वे किसी भी समय तरलता के अतिरिक्त लाभ के साथ निश्चित परिपक्वता योजनाओं के समान हैं।

 

बॉन्ड ईटीएफ टैक्स-कुशल हैं

बॉन्ड ईटीएफ किसी भी नियमित डेब्ट म्यूचुअल फंड की तरह है, और इन पर टैक्स भी इस तरह लगाया जाएगा|  36 महीनों में हुए निवेश पर कैपिटल गेन्स पर इंडेक्सेशन बेनिफिट के साथ  20% टैक्स लगता है। 36 महीने से कम समय के लिए निवेश पर मिलने वाले शॉर्ट टर्म कैपिटल गेन्स पर आपके लागू टैक्स स्लैब के अनुसार कर लगेगा।

 

रिटर्न और टैक्स दरों की तुलना

निवेश विकल्प 

रिटर्न*कर दर

अपेक्षित रिटर्न 

(3 वर्ष की होल्डिंग)

भारत बॉन्ड

ETF - 2023

6.69%

शार्ट टर्म – 30%

लॉन्ग टर्म – 20%

इंडेक्सेशन लाभ के साथ

5.60%

भारत बॉन्ड

ETF – 2030

7.66%

शार्ट टर्म – 30%

लॉन्ग टर्म – 20%

इंडेक्सेशन लाभ के साथ

6.40%
डेब्ट म्यूच्यूअल फंड6.50% – 7.50%

शार्ट टर्म – 30%

लॉन्ग टर्म – 20%

इंडेक्सेशन लाभ के साथ

6%
टैक्स फ्री बॉन्ड्स5.50% - 6.00%

कूपन - कर मुक्त

लॉन्ग टर्म – 10%

5.75%
बैंक FD6.25% - 7.00%आय दर के मुताबिक4.60%

* वर्त्तमान सूचक रिटर्न

 

बॉन्ड ईटीएफ में निवेश कैसे करें?

बॉन्ड ईटीएफ में निवेश करने के लिए आपको एक डीमैट खाते की आवश्यकता होगी। यदि आप एक्सचेंज पर बांड ईटीएफ ना खरीदना चाहें, तोह बिना डीमैट खाते के निवेशक के पास फंड के जरिए निवेश करने का विकल्प भी है। एडलवाइस एएमसी भारत बॉन्ड ईटीएफ के लिए निधियों का कोष शुरू कर रही है।

 

भारत बॉन्ड ईटीएफ के लाभ

 

बॉन्ड ईटीएफ सुरक्षा प्रदान करेगा क्योंकि अंतर्निहित बांड सीपीएसई और अन्य सरकारी स्वामित्व वाली संस्थाओं द्वारा जारी किए जाएंगे। लक्ष्य परिपक्वता संरचना के कारण इसमें अनुमानित कर-योग्य रिटर्न होगा।

यह खुदरा निवेशकों को 1,000 रुपये से कम की राशि के साथ बॉन्ड में निवेश करने की सुविधा प्रदान करेगा, जिससे एक बॉन्ड सम्पत्ति में आसान और कम लागत वाली पहुंच उपलब्ध होगी।

अन्य निश्चित आय निवेशों की तुलना में भारत बॉन्ड ईटीएफ बहुत अधिक तरलता प्रदान करेगा। यह उच्च लेनदेन लागत के बिना आवश्यकता होने पर बाहर निकलने में आसानी लाता है।

 

तरलता तुलना

निश्चित आय निवेश

तरलता

डेब्ट म्यूच्यूअल फंड*****
भारत बॉन्ड ETF****
टैक्स फ्री बॉन्ड्स**
बैंक FD*

 

बांड की तुलना में ईटीएफ पर कर मामूली दरों पर लगाई जाती है। बॉन्ड ईटीएफ पर इंडेक्सेशन के लाभ के साथ कर लगाया जाता है जो निवेशकों के लिए पूंजीगत लाभ पर कर को काफी कम करता है।

Comments

Send Icon